सम्पादकीय : ‘भूख से दम तोड़ते लोगों की असली आवाज़ कोई...

पिछले 6 महीने में झारखंड में आधे दर्जन से अधिक लोग पब्लिक डिस्ट्रब्यूशन सिस्टम के जरिये अनाज न मिलने की वजह से मर गए।...

सम्पादकीय : प्रधानमन्त्री के फिटनेस चैलेन्ज का माहौल एक तरह की...

एक तस्वीर दिल्ली की हवाओं की है और दूसरी प्रधानमंत्री के फिटनेस चैलेन्ज की . एक तस्वीर दिल्ली की अंधड़ बनती सड़कों की है...

क्या घोर दक्षिणपंथी राजनीति ने जिस कट्टरता को बढ़ावा दिया है,...

यह लेख राकेश पांडेय के दक्षिणपंथ की प्रवृत्तियों पर लिखे गये एक लेख का कठफोड़वा की ओर से संपादकीय जवाब है. राकेश पांडेय ने...

आखिर वेदांता प्लांट से क्या नुकसान था कि उसे बंद करवाने...

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई से करीब 600 किलोमीटर दूर तूतीकोरिन में वेदांता की स्टरलाईट प्लांट (vedanta sterlite plant) है. ये कंपनी यहां कॉपर गलाने...

ट्रेन में नाचने वाले बच्चे कौन हैं? खुद उन्हीं से जानिये!

ये सवाल जितने लोगों से आप पूछिए उतने जवाब आपको मिल जाएंगे. कोई इन्हें बेचारा कहेगा तो कोई गरीबी के नाम पर बैठे-बैठे पेट...

जब सत्यजित रे की मौत पर कलकत्ता में सेमिनार, भाषण, फिल्म...

अनिमेष मुखर्जी बंगाली हैं पर कलकत्ता से नहीं हैं, फर्रुखाबाद से हैं. पर आप एक भद्रलोक बंगाली की तरह इनसे चित्रकला से लेकर मूर्तिकला...

अगर किताब पढ़ने का मन नहीं होता तो क्या आपका जीना...

किताबें बहुत जरूरी हैं. अच्छी किताबें अक्सर किसी समस्या या विषय के तमाम पहलुओं को सामने लाती हैं. ऐसे में हम जान पाते हैं...

दैनिक जागरण के पहले पेज पर छपी यह खबर फर्जी है...

दैनिक जागरण हिंदी बेल्ट का सबसे बड़ा अख़बार है. आज उसकी एक खबर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. खबर की हेडलाइन...

क्या डेढ़-डेढ़ सौ चूहे खाकर बिल्लियां हज को जा पायेंगीं?

इस लेख का शुरुआती अंश 'द इंडियन एक्सप्रेस'  के 'ऑपीनियन पेज'  पर 'Dear friend, speak up' शीर्षक से छपे पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के...

क्या हाल की रेप-घटनाओं में सरकार से जुड़े लोगों का ‘सहयोग’...

पिछले तीन दिनों में बलात्कार की दो घटनाओं ने देश की आत्मा को झकझोर कर रख दिया है. मुझे नहीं पता कि ‘आरोपी माननीय’...

तो क्या मोदी सरकार ने दलितों को आज़ादी के बाद से...

 यह लेख द इंडियन एक्सप्रेस के ऑपीनियन पेज पर छपे लेख 'ब्रोकेन प्रॉमिसेज़' की हिंदी में प्रस्तुति है. इस लेख को लिखने वाले सुखदेव...

निजीकरण के तीन फैसले जो दिखाते हैं कि अब सरकार के...

सरकार एयर इंडिया की खस्ता हालत की वजह से इसकी 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने जा रही है. सिविल एविएशन मिनिस्ट्री (CAM) ने घाटे में चल...

‘गाय की पूजा करना मानव जाति की गरिमा गिराना है’

"हम हिंदू गाय को अपनी माता मानते हैं, उसे पवित्र मानते हैं. मुसलमानों ने गाय को मारा है. यह जागने और बदला लेने का...

कहीं बिहार दंगे में उछली चप्पल नीतीश कुमार की तो नहीं...

पिछले कुछ दिनों से बिहार के सात जिले साम्प्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो परेशान...

कोबरापोस्ट के खुलासे देखने के बावजूद हिंदी मीडिया के बारे में...

कोबरापोस्ट (Cobrapost) ने एक स्टिंग सीरीज जारी की है. जिसमें उनके पत्रकार गुप्त कैमरा लेकर स्टिंग कर रहे हैं. इस क्रम में वह हिंदी...

सिनेमा में ढंग की पुलिस देखनी है तो ‘रेड’ देखिये

'रेड'(Raid) देखी, अच्‍छी लगी! 'ईमानदार अफसर' और 'भ्रष्‍ट नेता' को लेकर हिंदी सिनेमा ने जो स्‍टीरियोटाईप गढ़ रखा है यह सिनेमा भी उससे पूरी...

तो इसलिये पुलिस पत्रकारों को दौड़ाकर-दौड़ाकर पीट रही है!

JNU के हज़ारों छात्र शुक्रवार को दिल्ली की सड़कों पर थे. उनकी कई मांगों में से एक मांग यह भी थी कि अपनी आठ...

हिंदी को वैश्विक वीजा-पासपोर्ट दिलाने वाला कवि जाएगा कहां! रहेगा यहीं…

रात को यही कोई 9 के आसपास खबर मिली की केदार बाबा नहीं रहे। मैंने इस सूचना की पुष्टि करने का प्रयास नहीं किया।...

बनारस और बिस्मिल्ला… सुब्हानअल्लाह

15 अगस्त 1947 को जब देश आज़ाद हवा में साँस ले रहा था। उस वक्त उस हवा में संगीत का सुर घोल रहे थे-...

हद से बड़ा बहुमत संसद के लिए खतरनाक होता है.

फ्रांस में 1981 तक कैपिटल पनिशमेंट का चलन रहा. फ्रांस की क्रांति के दौरान किंग लुईस सोलह और मैरी एन्टोएनिटी के काल में किसी...