विश्व पुस्तक मेले का दिल्ली के प्रगति मैदान में आज से आगाज़ हो रहा है. ऐसे में कई नई-पुरानी किताबों की चर्चा होगी. पर मैं थोड़ा ओल्ड स्कूल हूं और इस मामले में भारतीय चिंतन परंपरा की पारायण विधा...
1. 'समाज सिर्फ सिक्युरिटी गार्ड्स और पुलिस के भरोसे नहीं चल सकता, आपसी भागीदारी भी बढ़ानी होती है.' यह लेख हमारे स्वार्थी फैसलों पर हमला करता हैं जिनमें हम अपने हिस्से की दुनिया से दूसरों को खदेड़ देते हैं....
'भक्त' आम तौर पर हिंदी भाषा में हिन्दू धर्म के अनुयायिओं के लिए प्रचलित एक शब्द है. यह अनुयायी बगैर किसी संदेह के किसी देव या विचार को आराध्य मान उस पर पूरा यकीन करते हैं. राजनीति में इस...
काशी हिंदू विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष पर महामना को पत्र आदरणीय भारतभूषण मालवीय जी, आपको पत्र लिखने की इच्छा बहुत वर्षों से हो रही थी,परंतु इच्छा रह-रहकर बुझ जाती थी। घर-द्वार, रोजी-रोटी के चक्कर में पैर ऐसे फँसे थे कि पूछिये...
दिसंबर की शुरुआत में महाराष्ट्र सरकार ने महाराष्ट्र के 1314 जिला परिषद् स्कूलों को बंद करने का निर्णय लिया. इसकी वजह थी कि इन स्कूलों में 10 या उससे कम छात्र पढ़ते हैं. सरकार केवल इतने छात्रों के लिये...
दैनिक जागरण भारत का एक प्रमुख हिंदी अख़बार है. इंडियन रीडरशिप सर्वे में इसकी रीडरशिप शीर्ष पर आती रही है. यह हिंदी लिखने-पढ़ने वालों की दुनिया में एक चर्चित अख़बार है. हमने गुजरात चुनाव के ठीक एक दिन बाद...
आखिरी बहुज्ञानी: बेनेडिक्ट एंडरसन एक विद्वान और इंसान के तौर पर (रामचंद्र गुहा ने यह लेख करीब दो साल पहले बेनेडिक्ट एंडरसन के देहांत के बाद प्रतिष्ठित अंग्रेजी रिसर्च पत्रिका इकनॉमिक एंड पॉलिटिकल वीकली के लिये लिखा था. यहां हम...
'कठफोड़वा' से हमारे साथी विनय आज इस रिपोर्ट के साथ जुड़ रहे हैं. विनय हमारे संस्थापक सदस्यों में से हैं और आज तक कठफोड़वा को प्रोत्साहन और नैतिक बल देते थे. विनय सामाजिक बदलावों के लिये जमकर मेहनत करते...
काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में हुए अपने अभिनन्दन समारोह में भूतपूर्व कुलपति जी सी त्रिपाठी ने कहा कि 'हाँ, मैंने मजबूरी में अयोग्यों की भी नियुक्ति की।' यह एक वाक्य भारतीय शिक्षा व्यवस्था की दुर्दशा के कारणों को सामने ला...
शिव विश्वनाथन भारत के उन चुनिंदा विद्वानों में से एक हैं जिन्हें विज्ञान और समाज के आपसी संबंधों की गंभीर समझ है। देश-विदेश की प्रमुख पत्रिकाओं में उनके आलेख समय-समय पर प्रकाशित होते रहते हैं। उनकी एक किताब प्रकाशित...

सोशल मीडिया

0FansLike
48FollowersFollow

हमारी पसंद

विज्ञापन

- Advertisement -